माइक्रोवेव कीटाणुशोधन प्रणालियां

RF and Microwave Power Systems पूर्वोत्तर राज्यों के लिए माइक्रोवेव कीटाणुशोधन प्रणालियां, पूर्वोत्तर राज्यों के लिए माइक्रोवेव कीटाणुशोधन प्रणालयों के विकास और तैनाती की एक डीआईटी द्वारा वित्तपोषित परियोजना सफलतापूर्वक पूरी हो गई है और 7 इकाइयां पूर्वोत्तर राज्यों में तैनाती के लिए विकसित कर ली गई हैं।

आरएफ ड्रायर

  1. समीर (SAMEER) ने एक 40 किलोवाट क्षमता वाला आरएफ ड्रायर विकसित किया है जो औद्योगिक परिवेश में ऑपरेट किया जा सकता है। वर्तमान में यह ऊन सुखाने के लिए प्रयुक्त हो रहा है।
  2. चाय प्रसंस्करण के लिए आरएफ ड्रायर इकाइयां: सूचना प्रौद्योगिकी विभाग (डीआईटी) के प्रायोजन में चाय के प्रसंस्करण के लिए आरएफ ड्रायर इकाई विकसित की गई थी। इसे टोकलाई चाय अनुसंधान केंद्र, जोरहाट, असम में काली चाय को सुखाने के लिए संस्थापित किया गया है। ग्रीन टी के प्रसंस्करण के लिए एक अन्य इकाई अगरतला, त्रिपुरा में स्थापित की जाएगी।
  3. मसालों के प्रसंस्करण के लिए आरएफ ड्रायर: समीर (SAMEER) ने 25 किलोवाट आरएफ ड्रायर विकसित किया है और इसे भारतीय इलायची अनुसंधान केंद्र, स्पाइस पार्क, माइलाडुंपरा, इडुक्की जनपद, केरल में संस्थापित किया गया है।

रडारों का पता लगाने के लिए उच्च क्षमता ट्रांसमीटर

RF and Microwave Power Systems विकास एवं विनिर्माण भागीदार के रूप में एलएंडटी के साथ इसरो के लिए रडार का पता लगाने हेतु सी-बैंड और एस-बैंड आईआरआईजी कोडित दो उच्च क्षमता ट्रांसमीटर डिजाइन और विकसित किए गए हैं। इन ट्रांसमीटरों को शेष रडार सबसिस्टमों में एकीकृत किया गया है और एसडीएससी, श्रीहरिकोटा में उपग्रह प्रक्षेपण कार्यक्रम के दौरान उपयोग के लिए इसरो को सौंप दिया गया है।